BHAKTON KI BHAKTI || by- Bihari Boys Comedy


BHAKTON KI BHAKTI

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है Risu Roy और आज मै आपको बताने जा रहा हु BHAKTON KI BHAKTI के बारे में| तो आइये जान लेते है .

हमारे TEAM के सदस्य :-


Script

BHAKTON KI BHAKTI

(1) चन्दन –भगवान के सेवा में लीन एक एसा पुजारी पंडित जो पूरी तन ,मन से लगा रहता है धन से नहीं क्युकि धन प्राप्ति के लिए ही वो एक मंदिर का पुजारी रहता है |
(2) अब बारी है भक्तो कि तो मै आपको बता दू कि यहाँ पर एक से बढाकर एक भक्त के और उनकी इक्छा कि तो बात ही मत करे उनका एक एक वरदान एसा है जो कि भगवन भी सुनने को इनकार कर दे | तो चलिए जान ले है भक्तो के नाम राहुल ,विकाश ,मोनू ,विष्णु ,दीपक |
दोस्तों इस video सूटिंग के दौरान हमने बहुत माजे किये | यह video सूटिंग Dehri–on-sone के एनिकाट यानी झारखंडी मंदिर इसे नौ लख्हा मंदिर के नाम से भी जानते है दोस्तों इस video कि location और background बहुत ही प्यारी है मंदिर का वो आद्भुत नजारा बहुत ही प्यारी है |
सिन -1
भक्तो कि भक्ति नाम से ही पता चलता है कि भगवन के प्रति भक्तो कि आपार भक्ति ,श्रधा, प्रतिष्ठा, और भगवन के लिए उनका भक्ति |
अब कहानी start होता है उन दो पागल भक्त से जो sone नदी में डुबकी लगाते हुए नजर आते है और वो सूर्य भगवन से विनती करते है कि हे सूर्य भगवन बस अबकी बारी पास करा दिहा तभी विकाश राहुल से कहता है भाई सूर्य भगवन हमार कपार पर प-अणि गिरा देले ,हा भाई हमरो पर लगत बा कि अबकी हाली पास हो जेल जाए हा भाई …जय हो सूर्य भगवन जय हो जय हो हाय हो ………………….

सिन -2
पुजारी मंदिर में बैठ कर आरती कि थाल सजाता रहता है तभी चारो भक्त वहा आते है और बहुत ही प्रेम पूर्वक एक एक करके भगवान को अपना गुहार लगाते है पहला भक्त ॐ जय जगदीस हरे | तो फिर दूसरा जल्दी से दिला दो नौकरी हमारा | फिर तीसरा भक्त जल्दी से करा दो शादी दोबारा | अंत में चौथा भक्त girlfriend से मिला दो दोबारा | ये साडी बाते सुनकर पंडित चौन्धिरिया जाता है अपना होस और हवास खो देता है फिर भी वो भगवान से कहता है हे भगवान देख ला इ सब का का माँगा तारा सन हम ता परेसान बानी इहनी सब से चला जैसन तोहर मर्जी और फिर सबको आशीर्वाद के रूप में फूल देता है और सबको भगा देता है वो अपने किस्मत पर रोता है कि कैसे कैसे आ रहे है |

सिन- 2

भक्त राहुल मेट्रिक में फेल हो जाता है और वो भगवान से गुहार लगाता है | हे भगवान ,हे प्रभु हमने एसा कौन सा पाप किया था जों हमें ये सजा मिला जानते है भगवान परीक्षा के समय यही जमीनवा पर बैठ कर लोटते रहते थे जानते है भगवान जब हम परीक्षा में बैठे थे न ता इ हथवा थरथर काप रहा था देखिये ये हथवा अभी तक काप रहा हैं जानते है भगवान हम तो मांस मछली भी खाना भी छोड़ दिए थे | तब पंडित जी कहते है अरे बच्चा तोहरा का परेशानी बा | जानत बारा पंडित जी परीक्षा के समय अहिजे फर्स्वा पर लोटत राहत रही माई कहत रहे कि भोलेबबन के नारियल चढ़ा दे पर हम ना मनानी हम महादेव के बूटी चढ़ावत रही | अरे ता तू एतना करेजा काहे के फाड़ा तारा ले जेईबा भगवान के सब कोई ले जाता तुहू लेजा भगवान के केहू ले जाला हा ले जाला तुहू लेजा | लाव तोर हाथ देखा तानी बच्चा तोर ता हाथ के सब रेखा मिट गाइल बा | और पंडितजी उसके हाथ में कच्छा सुता बंधाते है कच्छा सुता बंधने के बाद उस बच्चे के शारीर में एक आजीब सी शक्ति आने लगता है उसके बाद पंडित जी कहते है जाओ बच्चा तोर कल्याण हो जाए और वो बिना कुछ पैसा दिए वो भी चला जाता है | देखि भगवान का जमाना आ गाएल बा हमार ता पेट चलावल भी मुस्किल हो गाएल बा भगवान |

सिन -3
तीसरा भक्त अपने गुंडा style में अपने चेला के साथ आता है जय महाकाल पंडित जी आते है उसे तिलक लगाने के लिए पर यहाँ कुछ और भी सिन होता है उसका चेला उसके कमर से एक बन्दुक निकालता है और ओंदित्जी से कहता है बाबा इनकार ना इ घोड़वा के तिलक लगा दिही |और पंडित जी डरते कापते हुए तिलक लगाते है फिर o दोनों भी बिना कुछ पैसा दिए जय महाकाल बोलकर चले जाते है | इधर पंडितजी भगवान से कहते है हे भगवान इ कैसन कैसन गुंडा क्रिमनल अवा तारा सन भगवान हमर ता आब जियल मुस्किल हो गाएल बा |

सिन -4
अब एक एसा भक्त आता है जो भगवान को कम और अपने जूता को ज्यादा देखता है वो अपने जूता को इधर उधर यहाँ वहा रखता है और अंत में पंडितजी जी तिलक लगवाने जाता है और कहता है बाबा जल्दी लगा दिही ना ता कोई जुतवा लेके भाग जाए पंडितजी तिलक लगाकर उसे भगा देते है | पंडितजी आपना सर पकड़ कर बैठ जाते है |

सिन-5
अब अंत में एक भक्त आता है और आते ही नागिन कि तरह लोटने लगता है पंडित जी उससे कहते है का हो गाएल तोर नागिन भुला गाएल हाउ का ना बाबा अभी तक ता नगिनिया कौनो मिलले नएखे अच्छा अच्छा अवा हेने तोरो कल्याण कर दिही लाव कुछ पैसा निकाल |अभी कहे के नगिनिया मिली तब ना और वो भी वहा से चला जाता है |

अब पंडितजी जी परेसान होकर भगवान से कहते है अब हमहू तोहार सेवा ना करब जा तानी अब हमहू क्रिमनल बने देखा हाई थरिया में बहनी भी नइखे होत जा एगो आके करेजा फाड़त बा हे भगवान भगवान |एगो जूता देखत बा |एगो बन्दुक देखावत बा |और एगो आइल हा ता नागिन बन के लोटत बा |आब हमरा से बरदास ना होई जा तानी हम ………….

हा हा हा हा दोस्तों बहुत ही मजेदार video है आप सब को मजा आ जाएगा |


अगर आपको ये post पसंद आया हो तो निचे दिए गए video के link पर click करके देख सकते है|
 


दोस्तों ये वीडियो post हमारे Bihari Boys की team ने आप लोगो के entertenment के लिए बनायीं है| अगर आपको हमारी ये video पसंद आयी हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ Share करे| और हमारे Youtube चैनल Bihariboyscomedy को भी Subscribe करे|आप लोगो का support ही हमे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करेगा| और हम आगे भी आपके लिए बहुत सी मज़ेदार video और post लेकर आते रहेंगे|
THANK YOU



****Facebook****Twitter****YouTube****Instagram****WhatsApp****
 



BBC

We are team of Bihari boys comedy from Bihar’s small city dehri on sone. in our city not a trend of making funny videos and our city is so far for this type of activity so we are approaching to distribute little bit happiness to our Bihar. And providing some more categories in our website for our visitor.

6 thoughts on “BHAKTON KI BHAKTI || by- Bihari Boys Comedy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *